रायपुर

पूर्व मंत्री कवासी लखमा ने निकाला प्रचार का अनोखा तरीका, झोले में लेकर घूम रहे सरसों का तेल, जानिए वजह

रायपुर। देश ने लोकसभा चुनाव होने वाले है। छत्तीसगढ़ में पहले चरण में 19 अप्रैल को एकमात्र सीट बस्तर में मतदान होगा। यहां से बीजेपी ने महेश कश्यप को अपना उम्मीदवार बनाया है, तो वहीं कांग्रेस ने छह बार के विधायक व पूर्व आबकारी मंत्री कवासी लखमा को चुनावी मैदान में उतारा है। कवासी लखमा अपने अनोखे व चुलबुले अंदाज के लिए जाने जाते हैं। उनकी हर बात लोगों के साथ विपक्षियों को भी हंसने पर मजबूर कर देती है। अपने अनोखे व अतरंगी मिजाज के लिए मशहूर पूर्व मंत्री लोकसभा चुनाव में प्रचार प्रसार का अलग ही तरीका निकाला है।

पूर्व मंत्री कवासी लखमा जोरों से प्रचार-प्रसार में जुटे हैं। आज वह बीजापुर पहुंचे थे। जहां उन्होंने एक सभा की, इस दौरान कवासी लाखमा के प्रचार का अनोखा रूप देखने को मिला। कवासी लखमा अपने पास झोले में सरसों का तेल रखते हैं, और पब्लिक को महंगाई के बारे में समझते हैं। लोगों को सरसों का तेल दिखाकर कहते हैं, हम लोग थे तो ₹30 में मिलता था, मोदी ने भारतीय जनता पार्टी ने इसको महंगा कर दिया है। यह सारी बातें कवासी लखमा बस्तर की अपनी स्थानीय भाषा में कहते हैं।

जब कवासी लखमा आज बीजापुर में सभा करने पहुंचे, तो उनकी सभा किसी बड़े मंच पर नहीं एक पेड़ के नीचे लगी। स्थानीय कार्यकर्ताओं के साथ गांव वालों की भीड़ भी देखने को मिली। इस जगह पर पूर्व मंत्री लखमा ढोल बजाते हुए लोगों से मिलने पहुंचे। इस दौरान वह एक झोला लेकर आए थे, जिसमें तेल, दाल आलू, प्याज और पेट्रोल की बोतल रखी हुई थी। इन सब के जरिये वह लोगों को महंगाई के बारे में बता रहे हैं, या यूं कहें कि यह सारी चीज उनकी स्टार प्रचारक बनी हुई है। गांव में सभा के दौरान उन्होंने कहा कि खाने का तेल ₹30 में मिलता था, बीजेपी ने इसको महंगा कर दिया है। दाल, आलू, प्याज सब में जीएसटी लगा दिया है। अगर इसे हटाना है तो राहुल गांधी की सरकार लानी होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}