रायपुर

अनवर ढेबर के आजादी के दिन ख़त्म : अरविन्द सिंह के साथ भागने के फिराक में था, कुम्हारी टोल नाके के पास एसीबी ने दबोचा

रायपुर। कांग्रेस शासन काल में हुए 2 हज़ार से अधिक के शराब घोटाले में अरविंद सिंह के बाद अनवर ढेबर को भी एसीबी-ईओडब्लू की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। सुप्रीम कोर्ट से जमानत लेकर अनवर कुछ महीनों से खुली हवा में घूम रहा था। जानकारी के मुताबिक हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद बुधवार रात जेल से छूटा अरविंद सिंह अनवर ढेबर के साथ राज्य से बाहर भागने की फिराक में था। लेकिन उसका प्लान कामयाब होता उससे पहले ही अनवर को फिल्मी अंदाज में कुम्हारी टोल प्लॉजा के पास से जांच एजेंसी ने गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि, अरविंद सिंह को एसीबी ईओडब्लू ने कल(बुधवार) शाम फिर से गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया है। ईडी की एफआईआर पर एसीबी के द्वारा, इस मामले में दो गिरफ्तारी है। इससे पूछताछ के बाद और भी लोग गिरफ्तार किए जा सकते हैं।

गौरतलब है कि, अरविन्द सिंह इस घोटाले की अहम कड़ी रहा है। वह रकम कलेक्शन के साथ-साथ बोतलों में लगने वाले होलोग्राम युक्त ढक्कन बनाने वाली फर्म का संचालक भी था। वह ईडी की गिरफ्त में आने के बाद से जेल में बंद था। 2 अप्रैल को हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद अरविंद कल शाम जेल से रिहा हुआ था। और एसीबी ने जेल से निकलते ही उसे हिरासत में लिया। रात भर पूछताछ के बाद आज दोपहर विशेष न्यायाधीश की कोर्ट में रिमांड लेने आवेदन पेश किया। एसीबी ने अरविन्द सिंह को सात दिन की रिमांड पर मांगा है।

हत्याकांड में याहया ढेबर को उम्रकैद की सजा

बता दें कि, छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने अनवर ढेबर के भाई याहया ढेबर की जग्गी हत्याकांड मामले में उम्रकैद की सजा बरकरार रखा है। निचली अदालत ने जग्गी हत्याकांड मामले में याहया ढेबर समेत 22 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी जिसके खिलाफ सभी ने उच्च न्यायलय में अपील की थी, जिसे आज(गुरुवार) को ख़ारिज कर दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}