रायपुर

अरुण सिसोदिया ने भूपेश बघेल को भेजा मानहानि का नोटिस, आतंकवादियों से तुलना का लगाया आरोप, 15 दिन में देना होगा जवाब

भिलाई। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मुश्किलें बढ़ती जा रही है। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव और AICC सदस्य अरुण सिसोदिया ने अब लगता है उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इस बार अरुण सिसोदिया ने पूर्व सीएम बघेल को मानहानि का नोटिस भेज दिया है। दरअसल, बघेल ने पुछले दिनों कांग्रेस में कुछ लोगों को ”स्लीपर सेल” बताया था। उनके इस बयान के बाद से उन्हें अब खासे विरोधों का सामना करना पड़ रहा है। बघेल का यही बयान अब उनके गले की फांस बन गया है। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश महासचिव और AICC सदस्य अरुण सिसोदिया ने उन्हें इसी बयान के आधार पर मानहानि का नोटिस भेजा है। उन्होंने अपने वकील सौरभ चौबे के माध्यम से उन्हें नोटिस भेजा है और 15 दिन के भीतर उनसे जवाब मांगा है।

भूपेश बाघेल ने क्या कहा था?

पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने शुक्रवार को मीडिया से चर्चा के दौरान कहा था कि, कांग्रेस में कुछ लोग खराब नीयत से स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे हैं। वे पार्टी की बेहतरी नहीं चाहते हैं। उनका यह बयान उन कार्यकर्ताओं के लिए था, जो कि हाल ही में खुले मंचों पर बड़े नेताओं को निशाना साधते हुए अपनी बात रख चुके हैं। दरसअल, स्लीपर सेल आतंकवादी संगठनों के लिए काम करने वालों की भाषा है। बता दें कि, आतंकवादी संगठनों में स्लीपर सेल आम आदमी की तरह काम करते हैं। और ऊपर के हुक्म आने के बाद ही एक्टिव होते है।

पायलट की बात दिख रही बेअसर

प्रदेश प्रभारी सचिन पायलट ने दो दिवसीय प्रदेश दौरे के बाद सभी वरिष्ठ नेताओं को कहा है कि पार्टी में चाहे छोटा हो या बड़ा, रूठे हैं तो उसे मनाया जाए। वरिष्ठ नेता उनके घर तक पहुंचे। एक तरफ पायलट का रूठे हुए को मनाने की बात तो दूसरी तरफ सांसद प्रत्याशी भूपेश बघेल के ‘स्लीपर सेल’ वाले बयान के बाद एक बार फिर वे कार्यकर्ताओं के निशाने पर हैंं।

पीसीसी चीफ बैज को लिखा पत्र

अभी हाल ही में एआइसीसी सदस्य अरुण सिंह सिसोदिया के पार्टी प्रदेशाध्यक्ष दीपक बैज को पत्र लिखा है। जिसमें सिसोदिया ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी के कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल व पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के राजनीतिक सलाहकार विनोद वर्मा की मिलीभगत से पार्टी फंड के दुरुपयोग का मुद्दा उठाया था। पीसीसी अध्यक्ष को चिठ्ठी लिखकर सिसोदिया ने कहा था कि पार्टी फंड के 5.89 करोड़ रुपये विनोद वर्मा के बेटे की कंपनी में गलत तरीके से लगाए गए हैं। इस मु्द्दे पर भूपेश बघेल विनोद वर्मा का बचाव करते दिखे थे।

 

 

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से भी की शिकायत

बता दें कि, बघेल के इसी बयान की वजह से सिसोदिया ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना कंगाले को पत्र सौंपकर बघेल पर आचार संहिता उल्लंघन की कार्रवाई करने कहा है। सिसोदिया ने बघेल के द्वारा उनका विरोध कर रहे  कांग्रेस नेताओं को स्लीपर सेल कहे जाने पर आपत्ति की है। इसे समाज में नफरत फैलाने की कोशिश बता, सिसोदिया ने कार्रवाई करने कहा है।

यहां बता दें कि होली पूर्व पीसीसी चीफ दीपक बैज ने सिसोदिया को नोटिस दिया था। सिसोदिया ने इसका जवाब भी दे दिया है लेकिन संगठन ने अब तक उस पर निर्णय नहीं लिया है। सिसोदिया  ऐसी एक पत्र पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और राहुल गांधी को भी भेज चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}