रायपुर

हार की बौखलाहट में भूपेश का धर्म विरोधी चेहरा हुआ बेनकाब : भाजपा

सनातन का अपमान कर अपने पिता की राह पर चल रहे हैं भूपेश: श्रीवास्तव

रायपुर /भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री संजय श्रीवास्तव ने कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लगातार सनातन संस्कृति और हिन्दुत्व का अपमान करके अपने पिता की राह पर चल रहे हैं। श्रीवास्तव ने कहा कि “विष्णु को भ्रष्टाचार का भोग लग रहा” जैसा बयान देकर बघेल न केवल अपनी राजनीतिक कुंठा का प्रदर्शन कर रहे हैं, अपितु सनातन परम्परा के प्रति अपनी घृणा का शर्मनाक प्रदर्शन भी कर रहे हैं।

भाजपा प्रदेश महामंत्री श्रीवास्तव ने पूर्व मुख्यमंत्री बघेल के इस बयान की कड़ी भर्त्सना करते हुए कहा कि सनातन संस्कृति और हिन्दुत्व के प्रति विषवमन करके बघेल ने करोड़ों जनता की भावनाओं और आस्था को ठेस पहुँचाने का कृत्य किया है। यही काम अपने जीवनकाल में उनके पिता भी करते रहे और अब उनकी राह पर चलकर पूर्व मुख्यमंत्री हिन्दुत्व की जन आस्था से जुड़े प्रतीकों का अपमान अपनी तयशुदा हार की बौखलाहट में कर रहे हैं। इसके लिए बघेल पूरे प्रदेश की जनता से नि:शर्त माफी मांगें। भाजपा ऐसे अधर्मी बयान की सहन नहीं करेगी।

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार पर बघेल का बयान “सूपा बोले तो बोले, चलनी भी बोले, जिसमें बहत्तर छेद” की उक्ति को चरितार्थ करने वाला है। अपने शासनकाल में भ्रष्टाचारियों के सरगना रहे भूपेश बघेल के मुँह से भ्रष्टचार को लेकर बातें बनाना शोभा नहीं देता। श्रीवास्तव ने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों, गरीबों, अजा-अजजा वर्ग के लोगों, पिछड़ा वर्ग के लोगों का हक मारने, महादेव एप का घोटाला करके युवाओं के भविष्य को बर्बाद करने और गौधन न्याय योजना तक में घपलेबाजी करके गौमाता को बदनाम करने वाले भूपेश बघेल प्रदेश में भ्रष्टाचार के प्रतीक बन गये हैं।

श्रीवास्तव ने कहा कि भूपेश बघेल पहले प्रदेश को यह बताएँ कि 15 महीनों से जेल में बंद सौम्या चौरसिया के वह क्या आज भी पैरोकार हैं? क्या आज भी वह सौम्या के वकील हैं? बघेल यह भी साफ करें कि अपनी जिस उपसचिव सौम्या की वकालत वह करते रहे हैं, उसे अब तक क्यों जमानत तक के लाले क्यों पड़े हुए हैं?

उन्होंने कहा कि अपने मुख्यमंत्रित्व काल में भ्रष्टाचारियों को बचाने का कृत्य बघेल ने किया है, अपनी उपसचिव सौम्या चौरसिया के भ्रष्टाचार में उनकी कितनी संलिप्तता है, यह प्रदेश को भूपेश बघेल पहले बताएँ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}