रायपुर

शराब घोटाले के आरोपियों के साथ BJP, फाइव स्टार होटलों में बैठ कर रहे वसूली : भूपेश बघेल

दुर्ग। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए उसपर शराब घोटाले के आरोपियों से साठगांठ करने का बड़ा आरोप लगा दिया। पूर्व सीएम ने कहा कि, भाजपा घोटाले की बात कहती है, लेकिन वो उसी घोटाले के आरोपियों के साथ मिलकर चावल, कोयला और शराब का काम कर रही है। ये आम चुनाव नहीं खास चुनाव है। जनता को इस बार भाजपा को सबक सिखाना ही होगा।

दरअसल, शनिवार को दुर्ग स्थित राजीव भवन में कांग्रेस प्रत्याशी राजेंद्र साहू का चुनाव कार्यालय खोला गया। जिसके उद्घाटन कार्यक्रम में पूर्व सीएम भूपेश बघेल, पूर्व मंत्री रविंद्र चौबे, गुरु रुद्र कुमार, लोकसभा प्रत्याशी देवेंद्र यादव, अरुण वोरा सहित कई बड़े नेताओं ने शिरकत की।

बीजेपी नेता चला रहे वसूली का खेल

भूपेश बघेल ने कहा कि, भाजपा चावल घोटाला को लेकर आरोप लगाती है। ऐसे में जब राज्य में बीजेपी की सरकार बनी तो हमने सोचा कि अब चावल का मिलिंग चार्ज कम होगा, लेकिन उल्टा उन्होंने इसे बढ़ा दिया। भाजपा के मंत्री फाइव स्टार होटल में बैठकर वसूली का काम कर रहे हैं। राइस मिलर्स 40 रुपए का विष्णु जी को भोग लगा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यहीं हाल शराब घोटाला का है। एसीबी ने अपराध दर्ज किया है, लेकिन संविधान के अनुसार जितना लेने वाला आरोपी है, उतना ही देने वाला भी आरोपी होता है। 12 हजार करोड़ रुपए का जो आरोप लगाया उसकी वसूली का क्या हुआ ? जीएसटी का क्या हुआ ? कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

‘शराब सप्लायर से बीजेपी की सेटिंग’

भूपेश ने शराब सप्लायर्स पर कार्रवाई नहीं होने पर भी सवाल उठाए और कहा कि, होलोग्राम वही एजेंसी सप्लाई कर रही है, जिसपर पहले घोटाला का आरोप है। कांग्रेस के समय में भी वहीं सप्लाई कर रही थी। इसका मतलब है कि भाजपा की भी सेटिंग हो गई है। तभी कार्रवाई नहीं हो रही।

BJP बोली- भूपेश ने माना कि घोटाला हुआ

बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता केदार गुप्ता ने इस मामले में कहा कि भूपेश बघेल के राज में आबकारी विभाग का घोटाला हुआ था। आज यह जानकर खुशी हुई कि भूपेश बघेल ने यह माना कि उनकी सरकार रहते हुए घोटाला तो हुआ था। अब तक वह कह रहे थे कि केंद्र की जांच एजेंसियां परेशान कर रही थी। इस घोटाले में आरोपियों पर FIR हो चुकी है जांच चल रही है और कार्रवाई भी होगी कोई भी छूट कर बच नहीं पाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}