देश

रामकृष्ण मिशन के अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंद का निधन…पीएम मोदी ने जताया शोक

 रामकृष्ण मिशन के अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंद का मंगलवार रात निधन हो गया। वह 95 वर्ष के थे। उनके निधन पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता समेत कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया है।

मिशन ने एक बयान में कहा कि वह 2017 में रामकृष्ण मिशन के 16वें अध्यक्ष बने थे। बयान में कहा गया कि रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन के परम पूज्य अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंदजी महाराज ने आज रात 8.14 बजे महासमाधि ले ली। उन्हें संक्रमण के कारण सांस लेने में समस्या होने लगी थी, जिसके चलते उन्हें 29 जनवरी को रामकृष्ण मिशन सेवा प्रतिष्ठान में भर्ती कराया गया था।

 

स्वामी स्मरणानंद के निधन पर पीएम मोदी ने सोशल मीडिया हैंडल ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा कि रामकृष्ण मठ और रामकृष्ण मिशन के श्रद्धेय अध्यक्ष स्वामी स्मरणानंद जी महाराज ने अपना जीवन आध्यात्मिकता और सेवा के लिए समर्पित कर दिया। उन्होंने अनगिनत दिलों और दिमागों पर एक अमिट छाप छोड़ी। उनकी करुणा और बुद्धिमत्ता पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी।

उन्होंने आगे कहा कि वर्षों से मेरा उनसे बहुत घनिष्ठ संबंध रहा है। मुझे 2020 में बेलूर मठ की अपनी यात्रा याद है जब मैंने उनसे बातचीत की थी। कुछ हफ्ते पहले कोलकाता में भी मैंने अस्पताल जाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली थी। मेरी संवेदनाएं बेलूर मठ के अनगिनत भक्तों के साथ हैं। शांति।

 

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने एक्स पर पोस्ट करके लिखा कि रामकृष्ण मठ और मिशन के पूज्य अध्यक्ष, श्रीमत स्वामी स्मरणानंदजी महाराज के आज रात निधन की खबर से गहरा दुख हुआ। इस महान भिक्षु ने अपने जीवनकाल के दौरान रामकृष्णवादियों की विश्व व्यवस्था को आध्यात्मिक नेतृत्व दिया है और दुनिया भर में लाखों भक्तों के लिए सांत्वना का स्रोत बने हुए हैं। उन्होंने कहा कि मैं उनके सभी साथी भिक्षुओं, अनुयायियों और भक्तों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं। इसके साथ पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने भी उनके निधन पर दुख जताया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}