रायपुर

मैत्रीबाग की रक्षा अब दहाड़ रही रायपुर जंगल सफारी में

रायपुर, सेल के भिलाई स्टील प्लांट ने एक बार फिर व्हाइट टाइगर का कुनबा बढ़ाने के लिए बड़ा दिल दिखाया है। सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र न सिर्फ इस्पात उत्पादन के लिए बल्कि सफेद बाघों के प्रजनन के लिए भी ख्याति प्राप्त है। मैत्रीबाग चिड़ियाघर में एक सफेद बाघिन ‘जया’ को रायपुर के जंगल सफारी, नंदनवन जू से लाकर छोड़ा गया।

इन-ब्रीडिंग को रोकने और आउट-ब्रीडिंग के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए भिलाई के मैत्री बाग से एक सफेद बाघिन ‘रक्षा’ को जंगल सफारी, रायपुर भेजा गया है।

नंदनवन जू, जंगल सफारी, रायपुर से एक सफेद बाघिन ‘जया’ को लाया गया। 6 वर्ष 5 माह की सफेद बाघिन ‘जया’ को संयंत्र के कार्यपालक निदेशक (वर्क्स) अंजनी कुमार एवं कार्यपालक निदेशक (कार्मिक एवं प्रशासन) पवन कुमार द्वारा मैत्रीबाग चिड़ियाघर के इन्क्लोजर में छोड़ा गया। स्वस्थ बच्चों के लिए इन-ब्रीडिंग को रोकने और आउट-ब्रीडिंग के उद्देश्य से इस आपसी विनिमय के तहत मैत्रीबाग चिड़ियाघर से एक सफेद बाघिन को नंदनवन जू, जंगल सफारी, रायपुर भेजा गया।

सेन्ट्रल जू अथॉरिटी ऑफ इंडिया के नियमों के अनुसार यह विनिमय किया गया है। एक ही परिवार के माता-पिता से पैदा होने वाले बच्चे आगे चलकर अस्वस्थ, विभिन्न बिमारियों और संतान उत्पत्ति कर सकने में कठिनाई होती है।

रायपुर के जंगल सफारी की जया भी एक ही परिवार के माता-पिता से उत्पन्न हुई है और उसे दूसरे समूह के नर से संतान उत्पत्ति के लिए लाया गया है। इसी तरह भिलाई में भी ‘रक्षा’ को रायपुर भेजा गया है।

इस अवसर पर मुख्य महाप्रबंधक (टीएसडी एवं सीएसआर) जेवाई सपकाले, मुख्य महाप्रबंधक (कार्मिक) संदीप माथुर, महाप्रबंधक प्रभारी (नगर सेवाएं) वीके शर्मा, महाप्रबंधक (ईडी-पी एंड ए कार्यालय) एच शेखर, उप महाप्रबंधक (ईडी-वर्क्स सचिवालय) अजय कुमार, उप महाप्रबंधक (उद्यानिकी) डॉ एनके जैन, राज्य शासन से आए हुए चिकित्सक डाक्टर राकेश वर्मा, डाक्टर सोनम मिश्रा और भिलाई इस्पात संयंत्र, मैत्री बाग जू के आरिफ खान तथा राजेश कुमार शर्मा, ललित यादव, योगेश कुमार चंद्राकर एवं प्रेम कुमार, जूकीपर-एके सिन्हा, के नरसैया, मोहन, मोहम्मद मोहर्रम, जितेन्द्र कुमार, सुनील कुमार प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}