रायपुर

अयोध्या के लिए आज रवाना होगी आस्था स्पेशल ट्रेन…CM साय दिखाएंगे हरी झंडी

Aastha Special Train: रायपुर रेलवे स्टेशन से  आज  सुबह 10:30 बजे अयोध्या के लिए आस्था स्पेशल ट्रेन रवाना होगी। जिसे मुख्यमंत्री विष्णु देव साय हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे। यह ट्रेन उसलापुर रेलवे स्टेशन होकर गुजरेगी।

महीनेभर से अलग- अलग तिथि में इस ट्रेन का परिचालन किया गया। इसका किराया भी निर्धारित था। छत्तीसगढ़ से इस ट्रेन में अयोध्या जाने यात्रियों को वहां रहने की व्यवस्था, मंदिर दर्शन, नाश्ते और खाने की भी व्यवस्था रहेगी। इस ट्रेन में टूर एस्कार्ट, सुरक्षा कर्मी और चिकित्सकों का दल भी मौजूद रहेगा। बताया गया कि आने वाले समय में अयोध्या के साथ-साथ इस ट्रेन के माध्यम से काशी में भगवान विश्वनाथ के दर्शन और प्रयागराज तीर्थ भ्रमण की व्यवस्था भी की जाएगी।

आयोध्या जाने का उत्साह, यात्री बसों में भी भीड़ बढ़ी

श्रीराम की नगरी अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा समारोह होने के बाद से रामलला का दर्शन करने श्रद्वालुओं में भारी उत्साह देखा जा रहा है। उत्तर प्रदेश जाने वाली अधिकांश ट्रेने फरवरी तक पूरी तरह से पैक हो चुकी है। आलम यह है कि उत्तर भारत जाने वाली नवतनवा एक्सप्रेस में वेटिंग 100 के पार हो चुकी है।यही स्थिति यात्री बसों की भी है। रायपुर से सीधे अयोध्या के लिए कोई एक भी लक्जरी बस फिलहाल नहीं चल रही है लेकिन बस संचालकों ने जरूरत पड़ने पर सीधे अयोध्या तक बस चलाने की तैयारी कर रखी है। वर्तमान में बनारस, प्रयागराज आदि शहरों के लिए रोज बस चल रही है। ट्रेनों में कंफर्म टिकट नहीं मिलने के कारण बड़ी संख्या में श्रद्वालु बसों में अपनी सीट बुक कराने में लगे हैं।

आस्था स्पेशल ट्रेन में 22 कोच
22 कोच वाली इस ट्रेन में दुर्ग संभाग के कुल 361 राम भक्त रवाना हुई थी । बता दे इस ट्रेन में 20 कोच है, इनमें 18 स्लीपर एवं दो एसएलआर कोच है जो सुरक्षा की दृष्टि से लगाए गए हैं इसके अलावा प्रत्येक कोच में आईआरसीटीसी के द्वारा क्लीनर एवं सुपरविजन के लिए व्यवस्था की गई है। रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के लिए फल पानी की व्यवस्था की गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}