रायपुर

शिक्षक भर्ती के नियमों में बड़ा बदलाव : प्राथमिक शिक्षक के लिए डीएड-डीएलएड, विषय की अनिर्वायता, 50 प्रतिशत पासिंग मार्क्स

रायपुर। छत्तीसगढ़ में 33 हजार शिक्षकों की भर्ती होगी। लेकिन इस बार प्राथमिक स्कूलों में शिक्षक बनने के लिए केवल डीएलएड अथवा डीएड (डिप्लोमा इन एलिमेंट्री एजुकेशन) होना अनिर्वाय किया जाएगा, इसके बिना अभ्यर्थी आवेदन नहीं कर सकेंगे।

सुप्रीम कोर्ट के दिशा निर्देश के अनुसार, प्राथमिक स्कूलों में डीएलएड, डीएड अभ्यर्थियों को ही शिक्षक के रूप में पात्र माना जाएगा।

वहीं मिडिल स्कूल में शिक्षकों की भर्ती के लिए विषय की बाध्यता होगी। यानी संकाय के अनुसार ही शिक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। जैसे- सामाजिक विज्ञान, विज्ञान, गणित समेत अन्य संकाय वार ही भर्ती की जाएगी।

इसके पीछे तर्क है कि प्रदेश में शिक्षा की गुणावत्ता में सुधार आएगा। साथ की शिक्षकों के प्रशिक्षण आदि में लगने वाले खर्च में कमी आएगी। विषय के शिक्षक नहीं होने से उन्हें प्रशिक्षित करना पड़ता है।

बता दें कि भूपेश सरकार ने 11 जुलाई 2023 को विषय की बाध्यता समाप्त कर दी थी। इस कारण मिडिल स्कूलों में मनमानी तरीके से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो गई थी। पिछली सरकार ने 12489 पदों पर भर्ती के लिए विज्ञापन निकाला था। भूपेश सरकार ने शिक्षक भर्ती के लिए पासिंग मार्क्स 50 से घटाकर 45 प्रतिशत कर दिया था। उसे भी दोबारा 50 प्रतिशत किया जाएगा।

अब राज्य सरकार 2019 से पहले की तरह ही भर्ती प्रक्रिया करने जा रही है। सामान्य प्रशासन विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है।

अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में लगाई थी याचिका

भूपेश सरकार ने मिडिल स्कूलों में शिक्षक भर्ती में विषय की अनिर्वायता खत्म कर दी थी। इस नियम को हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी। हाईकोर्ट ने सरकार से जवाब तलब किया था। दरअसल, प्रदेश में 12489 शिक्षकों की भर्ती निकली थी। जिसमें 5772 पद शिक्षक ई और टी संवर्ग के है।

21 जुलाई को टीईटी परीक्षा

प्रदेश के स्कूलों में 33 हजार शिक्षकों की भर्ती करने के लिए शिक्षक पात्रता परीक्षा  (टीईटी) 21 जुलाई को होगी। व्यापमं की वेबसाइट में टीईटी के लिए आवेदन 7 मार्च से ऑनलाइन भरा जाएगा। आवेदन भरने की आखिरी तारीख 7 अप्रैल है। आवेदन में सुधार 8 से 10 अप्रैल तक होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}