देश

काम की खबर : अब 3 दिन में मिलेगा बिजली कनेक्शन, गांवों में भी जल्दी होगा काम, नए नियमों को मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने Electricity (Rights of Consumers) Rules, 2020 में संशोधन को मंजूरी दे दी है। इसके बाद अब छतों पर सोलर पैनल लगाने और नए कनेक्शन लेने की माथापच्ची अब खत्म हो जाएगी। केंद्र सरकार ने बिजली उपभोक्ताओं के लिए नए कनेक्शन लेने और छतों पर लगने वाली सोलर यूनिट के लिए नियम सरल बना दिए हैं। इसके तहत नए बिजली कनेक्शन अब महानगरीय क्षेत्रों में 3 दिन, नगरपालिका क्षेत्रों में 7 दिन और ग्रामीण क्षेत्रों में 15 दिन में मिलेंगे। अब उपभोक्ताओं नए बिजली कनेक्शन के लिए ज्यादा दिनों तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। संशोधित नियमों से उपभोक्ताओं की अधिक रीडिंग की शिकायत का समाधान भी हो सकेगा। ई-वाहनों (electric vehicle) की चार्जिंग के लिए अलग से कनेक्शन लिया जा सकेगा।

अब कितने दिन में मिलेगा बिजली का नया कनेक्शन?

संशोधित नियमों के मुताबिक नये बिजली कनेक्शन का आवेदन करने के बाद मेट्रोपॉलिटन एरिया में अब 3 दिन में बिजली का कनेक्शन मिल जाएगा। पहले यह 7 दिन में मिलता था। नगर निगम वाले शहरों में (municipal area) में बिजली का नया कनेक्शन अब 15 दिन की बजाय 7 दिन में और ग्रामीण इलाकों में कनेक्शन 30 दिन की जगह 15 दिन में मिलेगा। हालांकि पर्वतीय(पहाड़ी) ग्रामीण इलाकों में नए कनेक्शन लेने या मौजूदा कनेक्शन में बदलाव की अवधि को 30 दिन पर बरकरार रखा गया है।

फ्लैट व सोसायटी में रहने वालों को क्या मिली राहत?

हाउसिंग सोसाइटी, मल्टी-स्टोरीड बिल्डिंग, आवासीय कॉलोनी (Residential Colonies) में रहने वाले बिजली उपभोक्ताओं के पास ये विकल्प होगा कि वे चाहे तो अपने लिए बिजली वितरण कंपनी से अलग से सीधे कनेक्शन ले सकते हैं या फिर पूरी सोसाइटी के लिए सिंगल प्वाइंट कनेक्शन ले सकते हैं। सिंगल प्वाइंट कनेक्शन से बिजली लेने वाले उपभोक्ता और अलग से बिजली कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं से वसूले जाने वाले टैरिफ में समानता लाई गई है। मीटरिंग, बिलिंग और कलेक्शन अलग अलग तरीके से किया जाएगा। वितरण कंपनी से सीधे कनेक्शन लेने वाले की अलग बिलिंग होगी। इसी तरह रेसिडेंशियल एसोसिएशन के जरिए बैकअप पावर सप्लाई करने के लिए अलग बिलिंग होगी और कॉमन एरिया की भी अलग बिलिंग होगी।

बिजली उपभोक्ताओं के शिकायतों का कैसे होगा समाधान?

बिजली उपभोक्ता मीटर की रीडिंग उनकी वास्तविक खपत के अनुरूप न होने की शिकायत करते रहते हैं। संशोधित नियमों से बिजली उपभोक्ताओं की इस शिकायत का समाधान किया जा सकेगा। अगर कोई उपभोक्ता बिजली बिल को लेकर शिकायत करता है तो बिजली वितरण कंपनी को शिकायत मिलने के 5 दिन के अंदर अतिरिक्त मीटर लगाना होगा। इस मीटर के जरिए अगले 3 महीने तक उपभोक्ताओं की बिजली खपत को सत्यापित किया जाएगा। जिससे उपभोक्ताओं में बिजली बिल को लेकर भरोसा पैदा किया जा सके।

ईवी वाहनों के लिए भी ले पाएंगे कनेक्शन

नए नियमों के तहत उपभोक्ता अब अपने इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी) को चार्ज करने के लिए अलग से बिजली कनेक्शन ले सकते हैं। यह देश के कार्बन उत्सर्जन को कम करने और 2070 तक शुद्ध रूप से शून्य कार्बन उत्सर्जन तक पहुंचने के लक्ष्य के अनुरूप है। सहकारी हाउसिंग सोसाइटी, बहुमंजिला इमारतों, आवासीय कॉलोनी आदि में रहने वाले लोगों के पास अब वितरण लाइसेंसधारी से या तो सभी के लिए व्यक्तिगत कनेक्शन या पूरे परिसर के लिए सिंगल-प्वाइंट कनेक्शन चुनने का विकल्प होगा। इसके साथ ही मीटर रीडिंग वास्तविक बिजली खपत के अनुरूप नहीं होने की शिकायत होने पर वितरण लाइसेंसधारी को अब शिकायत मिलने की तारीख से पांच दिनों के भीतर एक अतिरिक्त मीटर लगाना होगा। इस अतिरिक्त मीटर का इस्तेमाल रीडिंग के सत्यापन के लिए किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}