रायपुर

डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना की प्रोत्साहन राशि में गड़बड़ी की जांच शुरू, CMHO ने बनाई टीम

रायपुर। स्वास्थ्य विभाग में पिछले दिनों डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में अनियमितता का मामला उजागर हुआ था। इस मामले को लेकर की गई शिकायत और प्रारंभिक जांच में गड़बड़ी उजागर होने के बाद CMHO रायपुर ने सम्बंधित चिकित्सकों को जांच टीम के समक्ष उपस्थित होने को कहा है।

CMHO ने जारी किया नोटिस

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मिथिलेश चौधरी ने स्वास्थ्य विभाग के 5 डॉक्टरों और एक डाटा इंट्री ऑपरेटर को नोटिस जारी कर जांच कमेटी के समक्ष उपस्थित होने को कहा है। इस पत्र में उल्लेख है कि शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र खोखो पारा में डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना के प्रोत्साहन राशि के वितरण में अनियमिता की शिकायत की गई है जिसमें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा डॉ. सजीव वोहरा, जिला स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ. विमल किशोर राय, जिला नोडल अधिकारी, डॉ. संजीव मेश्राम, जिला नोडल अधिकारी एवं नितिन पाण्डेय, प्रभारी मुख्य लिपिक एवं अमित पटेल, सलाहकार, आयुष्मान भारत मिशन योजना, स्थानीय कार्यालय के साथ जांच टीम का गठन किया है।

इन सभी को किया गया तलब

CMHO ने डॉ. परमेश्वरी लाल प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, काशीराम नगर, डॉ. राहुल अग्रवाल चिकित्सा अधिकारी, खोखो-पारा, डॉ. रवि शंकर शुक्ला प्रभारी चिकित्सा अधिकारी, खोखो-पारा, डॉ. गार्गी यदु पाल स्त्रीरोग विशेषज्ञ, खोखो – पारा, डॉ. प्रिति नारायण नोडल अधिकारी, कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर, लवकुश क्षत्रीय, डाटा एन्ट्री आपरेटर (जीवनदीप समिति) को नोटिस जारी किया है। इन सभी को दिनांक 10.11.2023 को दोपहर 04:00 बजे कार्यालय मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय के कक्ष क्रमांक 03 में उपस्थित होकर उपरोक्त शिकायत के संबंध में अपना बयान दर्ज करने के लिए मय दस्तावेजों के साथ उपस्थित होने को कहा गया है।

जांच में मिली इस तरह की गड़बड़ी

CMHO ने इस प्रकरण के संबंध में उल्लेख किया है कि डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में अनियमितता के संबंध में जांच टीम के द्वारा संस्था में निरीक्षण किया गया। इस दौरान डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में प्रोत्साहान राशि पोर्टल में डाटा संधारण करने हेतु निकाला गया जिसमें सभी अधिकारी एवं कर्मचारियों का डाटा प्राप्त हुआ परंतु डॉ. गार्गी यदु पाल (प्रसूती रोग विशेषज्ञ) का आईपीडी मरीजों से संबंधित जानकारी डाटा (कुल केसेस एवं जारी की गई राशि के अलावा) ऑनलाईन पोर्टल में प्रदर्शित 1/2 हो रहा है। जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि ऑनलाईन डाटा एवं रिकॉर्डो से छेड़-छाड़ किया जा रहा है। जिसके चलते निरीक्षण टीम द्वारा आदेशित दस्तावेजो के संधारण कार्य में डॉ. गार्गी यदु पाल (प्रसूती रोग विशेषज्ञ) के ऑनलाईन रिकॉर्ड के संधारण जानकारी हमारे द्वारा उपलब्ध नहीं कराई जा सकती है।

दरअसल डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में मरीजों के इलाज में जो राशि खर्च की गई है उसमे हेराफेरी के आरोप हैं। यही वजह है कि इस गड़बड़ी में संदेही डॉ. गार्गी यदु पाल सहित अन्य चिकित्सकों और योजना से जुड़े कर्मियों को उपस्थित होकर अपना पक्ष रखने को कहा गया है। बहरहाल अब तो यह जांच के बाद खुलासा हो सकेगा की मामले में किस तरह की हेराफेरी की गयी है और कितनी रकम की गड़बड़ी हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}