रायपुर

एटीएम में टेंपरिंग कर ठगी करने वाला यूपी का गिरोह छत्तीसगढ़ में पकड़ाया, हथियार व थार वाहन के साथ 3 गिरफ्तार

अंबिकापुर। छत्तीसगढ़ सहित देश के अलग-अलग राज्यों में एटीएम में छेड़छाड़ कर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के तीन सदस्यों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपित साहिल खान (21) देहरीडीगर कन्धई प्रतापगढ़ उत्तरप्रदेश, अहमद (29) व देहरीडीह कन्धई प्रतापगढ़ तथा मोहम्मद अतहर (29) गहरीचक शीतलागंज कन्धई प्रतापगढ़ उत्तरप्रदेश शामिल हैं।

बिलासपुर में दिया वारदात को अंजाम

इस गिरोह के तीनों सदस्य बिलासपुर में वारदातों को अंजाम देकर महिंद्रा थार वाहन से अंबिकापुर पहुंचे थे। इनके पास से पुलिस ने एक नग देशी कट्टा, एक नग जिंदा राउंड, एक बटनदार चाकू, एक लोहे का चाकूनुमा हथियार, नकदी 77 हजार रुपये, 17 नग एटीएम कार्ड, तीन नग मोबाइल सहित अन्य दस्तावेज बरामद किया गया है।

सूचना पर पुलिस ने की कार्रवाई

सरगुजा पुलिस को सूचना मिली थी कि बिलासपुर में एटीएम में छेड़छाड़ कर कुछ लोग चारपहिया वाहन महिंद्रा थार से अंबिकापुर की ओर फरार हुए हैं। पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने सूचना को गंभीरता से लेते हुए जिले के सभी थाना व चौकी प्रभारियों को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए थे। अंबिकापुर शहर में भी पुलिस टीम अलर्ट मोड पर थी। शहर के सभी होटल, लाज की कड़ी जांच की जा रही थी। इसी बीच पुलिस टीम को पेट्रोलिंग के दौरान गौरव पथ में काले रंग की संदिग्ध महिंद्रा थार खड़ी दिखाई पड़ी।

कई राज्यों में दिया वारदात को अंजाम

पुलिस टीम द्वारा वाहन की घेराबंदी कर उसमें सवार तीनों लोगों को पकड़ा गया। पूछताछ में विरोधाभाषी बयान सामने आने से पुलिस का शक गहरा गया। जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो तीनों ने बिलासपुर में एटीएम में टेंपरिंग कर धोखाधड़ी करने की स्वीकारोक्ति की। पुलिस ने बताया कि आरोपित साहिल खान, निसार अहमद, मोहम्मद अतहर गहरीचक शीतलागंज कन्धई प्रतापगढ़ उत्तरप्रदेश के हैं।

क्या होता है ATM टेम्परिंग

इन तीनों द्वारा छत्तीसगढ़ के अलावा देश के दूसरे राज्यों में भी एटीएम में टेंपरिंग कर राशि आहरण कर ठगी की घटना की गई है। दरअसल गिरोह के सदस्य इस वारदात के दौरान ATM मशीन में ट्रांजेक्शन की पूरी प्रोसेस करते हैं। जब कैश निकलने वाला होता है तो आखिरी समय पर कैश ट्रे के शटर को पिन, चाबी या उंगली से अटका देते हैं। इसके बाद कैश ट्रे में फंसे रुपए निकाल लेते हैं। इस तरीके से ठगों को कैश मिल जाता है और बैंक को तत्काल पता भी नहीं चलता। जब तक बैंक को पता चलता है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है।

गिरोह के पास घातक हथियार बरामद

इन तीनों युवकों को अवसर मिलता तो ये हथियारों के साथ अंबिकापुर में भी किसी भी वारदात को अंजाम दे सकते थे। कट्टा, जिंदा कारतूस, चाकू, नकद के संबंध मे पूछताछ करने पर इन्होंने जिला बिलासपुर में एटीएम मशीन की टेम्परिंग कर ठगी की घटनाकारित करते हुए अंबिकापुर की ओर आना स्वीकार किया। इनके विरुद्ध धारा 25, 27 आर्म्स एक्ट का अपराध पंजीकृत कर गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा मे भेजा गया हैं।

इस मामले में अग्रिम जांच एवं वैधानिक कार्रवाई की जा रही हैं। मामले की सूचना बिलासपुर पुलिस को भेजी गई हैं। इस कार्रवाई में सहायक उप निरीक्षक भूपेश सिंह, सहायक उप निरीक्षक अभिषेक पाण्डेय, सहायक उप निरीक्षक विवेक पाण्डेय के साथ पुलिस कर्मचारी सक्रिय रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}