रायपुरराजनीति

रमन सिंह ने राहुल की घोषणाओं को बताया खोखले वादों की गठरी

रायपुर / छत्तीसगढ़ में राहुल गांधी के दौरे और कांग्रेस की केजी से पीजी तक नि:शुल्क शिक्षा देने की घोषणा पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने तीखा प्रहार किया है।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने पिछली बार भी चुनाव में युवाओं को लेकर बड़े-बड़े वादे किए थे लेकिन पिछले पांच साल में उनमें से एक भी वादा पूरा करने में असमर्थ रही। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार ने यदि सबसे ज्यादा किसी को छला है तो वह प्रदेश के युवा हैं। इस कांग्रेस सरकार ने सीजीपीएससी में छल कर युवाओं के अधिकार की नौकरियां को नीलाम किया और कांग्रेसी नेताओं और बड़े अधिकारियों के बच्चों और रिश्तेदारों की झोली भरी। उन्होंने मतांतरण को संरक्षण देने का आरोप भी लगाया है।

जब भी राहुल गांधी छत्तीसगढ़ आते हैं तो प्रदेश के युवाओं के सवालों का जवाब नहीं दे पाते, छत्तीसगढ़ के युवा आज पूछ रहे हैं कि जो वादे उन्होंने छत्तीसगढ़ के युवाओं से किए थे उनका क्या हुआ, 10 लाख बेरोजगारों को प्रतिमाह 2500 रुपये बेरोजगारी भत्ता देने का वादा हो या आउटसोर्सिंग समाप्त करने का वादा, घोषणा पत्र के किसी भी वादे पर कांग्रेस सरकार खरी नहीं उतरी है, जहां तक बात कांग्रेस के घोषणाओं की है तो छत्तीसगढ़ की जनता यह अच्छी तरह समझ चुकी है कि यह घोषणाएं सिर्फ सत्ता पाने की लालसा से जनता को छलने के लिए कांग्रेस कर रही है जैसा कि उसने पिछली बार भी किया था।

भाजपा की सरकार में हमने पिछले 15 साल में 40,000 से ज्यादा स्कूलों का निर्माण किया, आदिवासी अंचलों तक स्कूल-कालेज, मेडिकल कालेज, प्रयास महाविद्यालय आदि के माध्यम से शिक्षा का विस्तार किया। जहां भाजपा की सरकार में एनआइटी, आइआइटी, आइआइएम, आइआइटी, एचएनएलयू और एम्स जैसे शैक्षणिक संस्थान आए, बस्तर में एजुकेशन हब बना, वहीं पिछले पांच साल में कांग्रेस ने एक स्कूल भवन तक का निर्माण नहीं करवाया। जिस स्वामी आत्मानंद स्कूल का विज्ञापन दिखाकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जनता को भ्रमित करते हैं वो सभी स्कूल भवन भाजपा के कार्यकाल में बने हैं, कांग्रेस ने सिर्फ़ पेंट करवाकर नाम बदलने और भाजपा सरकार के कार्यों का श्रेय लेने का काम किया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में एक बार फिर भाजपा की सरकार बनेगी।

ध्रुवीकरण की शुरुआत बघेल के शासनकाल में हुई
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने मतांतरण को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। मीडिया से चर्चा के दौरान रमन ने कहा कि ध्रुवीकरण की शुरुआत बघेल के शासनकाल में हुई। कांग्रेस द्वारा भाजपा पर लगाए जा रहे ध्रुवीकरण के आरोप को खारिज करते हुए रमन ने कहा कि 15 साल के लंबे कार्यकाल के दौरान भाजपा सरकार पर एक भी आरोप (मतांतरण) नहीं लगाया गया।

भूपेश के मुख्यमंत्री बनने के बाद मतांतरण की आंधी शुरू हुई और उन्होंने इसे संरक्षण भी दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि जिस तरह से बस्तर के साथ-साथ नारायणपुर जिलों में आदिवासी लोगों पर अपनी धार्मिक आस्था नहीं बदलने पर हमला किया गया और उन्हें जेल भेजा गया, वह इसका प्रमाण है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}