रायपुर

हिंदू रीति से अंतिम संस्कार करने पर पादरी ने परिजनों को पीटा, चर्च के विरोध में उतरे ग्रामीण

जगदलपुर। जगदलपुर की सीमा से लगे नगरनार थाना क्षेत्र के सेमरा पंचायत में चार दिन पहले मतांतरित कुरसोनाथ बघेल (45) की मौत के बाद गांव की रीति के अनुसार उसका अंतिम संस्कार हिंदू रीति-रिवाज से किया गया। इसे लेकर अब मतांतरित समुदाय और ग्रामीणों के बीच विवाद छिड़ गया है।

मृतक के साढ़ू रामसाय बघेल ने चर्च के पादरी जीतू पर मारपीट करने का आरोप लगाया है। इस बात से भड़के ग्रामीण अब गांव में बन रहे चर्च को अवैध बताते हुए उसे तोड़ने व आरोपित पादरी के विरुद्ध कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। ग्रामीणों ने प्रशासन को इसके लिए एक सप्ताह का अल्टीमेटम देते हुए सड़कजाम करने की बात कही है। रामसाय बघेल ने बताया कि हिंदू रीति रिवाज के अनुसार दस दिन के बाद मृत्यु संस्कार किए जाने थे पर चर्च के पादरी जीतू व मतांतरित समुदाय के लोग तीसरे दिन गांव पहुंचे और बैठक कर ईसाई रीति-रिवाज से मृत्यु संस्कार करने लगे। इसका विरोध करने और समझाने पर पादरी जीतू व उसके बेटे ने मारपीट की। सरपंच बुधरी बघेल ने बताया कि गांव के महारा समुदाय के कुरसोनाथ बघेल कुछ वर्ष पहले मतांतरित हो गया था। जिस पर ग्रामीणों ने गांव की सीमा के अंदर शव दफनाने से मना कर दिया तो परिवार की सहमति पर गांव में ग्रामीणों की उपस्थिति में हिंदू रीति-रिवाज से उसका अंतिम संस्कार किया गया। इसके तीसरे दिन मतांतरित समुदाय के लोग गांव पहुंचे और ईसाई रीति-रिवाज से मृत्यु संस्कार करने लगे। ग्रामीणों को इस बात का पता चलता तो वे इसका विरोध जताने पहुंचे, जिस पर मतांतरित समुदाय के लोग हमलावर हो उठे। मृतक के साढ़ू भाई रामसाय बघेल की पादरी जीतू व उसके बेटे ने मिलकर पिटाई कर दी। इसके बाद गांव में बजरंग दल व विश्व हिंदू परिषद को सूचना देने के बाद पुलिस को शिकायत की गई है।

चर्च बनाने नहीं ली ग्रामसभा की अनुमति
गांव की शासकीय भूमि पर मतांतरित समुदाय की ओर से चर्च बनाया जा रहा है, जिसके लिए ग्राम सभा से कोई अनुमति भी नहीं ली गई है। ग्रामीणों ने चर्च को अवैध बताते हुए इसे तोड़ने के लिए एसडीएम नंदकुमार चौबे को लिखित में मांग पत्र सौंपा है। एक सप्ताह में कार्रवाई नहीं करने पर सड़कजाम कर विरोध प्रदर्शन करने का अल्टीमेटम दिया है। बस्तर में आदिवासियों और ग्रामीणों को प्रलोभन देकर मतांतरण करवाकर सनातन संस्कृति को नष्ट करने का प्रयास किया जा रहा है। इससे गांव-गांव में तनाव की स्थिति बन रही है। चर्च के लोग अब ग्रामीणों से मारपीट पर उतारु हो रहे हैं, ऐसे लोगों पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। थाना प्रभारी शिवानंद सिंह ने बताया कि इस मामले की विवेचना की जा रही है। नंदकुमार चौबे, एसडीएम जगदलपुर ने कहा कि सेमरा में अवैध चर्च बनाने की शिकायत मिली है। इसकी जांच के लिए तहसीलदार को कहा गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
.site-below-footer-wrap[data-section="section-below-footer-builder"] { margin-bottom: 40px;}